गुणकारी और विश्व स्तरीय गन्ना उत्पादन के लिए तत्पर

Ganna Calender     IISR Technologies
     Videos at IISR

अखिल भारतीय समन्वित गन्ना अनुसंधान परियोजना

परिचय

देश के विभिन्न राज्यों के मध्य 1929 तक अनुसंधान से संबंधित कोई समन्वयन नही था। उस समय की इम्पीरियल कृषि अनुसंधान परिषद की गन्ना समिति ने इस कमी को चिन्हित किया और सम्पूर्ण देश में सात अनुसंधान की श्रंखला, जो कि गन्ने के सुधार के लिए समर्पित थे, को स्थापित किया। देश के विभिन्न राज्यों में भिन्न-भिन्न फसलों में अनुसंधान के समन्वयन के लिए रायल आयोग कि कृषि पर कि गई सिफ़ारिशों के तहत 1929 में इम्पीरियल (अब भारती) कृषि अनुसंधान परिषद का गठन किया गया। भारतीय कृषि अनुसंधान परिषद ने 1929 में अपनी पहली बैठक में चीनी उद्योग कि सुरक्षा के लीए सिफ़ारिश कि। भारतीय ट्रैफिक बोर्ड ने 1930 में इसकी सिफ़ारिश कि और 1932 में इसकी वित्तीय सुरक्षा का अनुमोदन किया गया। सान 1933 से 1946 तक पहले इम्पीरियल कृषि अनुसंधान परिषद तथा बाद में भारतीय केंद्रीय गन्ना समिति द्वारा अनुसंधान के कुछ पहलुओं को वित्तपोषित किया गया। तदुपरान्त वस्तुपरक समितियों को समाप्त कर दिया गया और भारतीय कृषि अनुसंधान परिषद ने दुबारा से सभी अनुसंधानिक गतिविधियों को अपने हाथ में ले लिया।

गन्ना देश के विभिन्न राज्यों में उष्ण एवं उपोष्ण दोनों कटिबंधीय क्षेत्रों कि विविध कृषि जलवायु कि दशाओं उगाया जाता है जिसके कारण इस के फसल कि समस्याएँ भी विभिन्न स्थानों पर विविध एवं अलग-अलग प्रकार कि होती है। परिणाम स्वरूप अनुसंधान पर बल एवं दिशा में स्थान विशिष्ट के अनुसार भिन्नता पाई जाती है। कालांतर में फसल कि आवश्यकताओं को पूरा करने के लिए अनुसंधान हेतु एक मजबूत बुनियादी ढाँचा स्थापित किया गया है। गन्ने में अनुसंधान कार्यों को दो स्तरों, केंद्रीय एवं राज्य पर सहायता प्रदान कि जाती है। वर्तमान में इन अनुसंधान केन्द्रों को भारतीय कृषि अनुसंधान परिषद, राज्यों के कृषि विश्व विद्यालयों एवं विभागों तथा गैर सरकारी संगठनों द्वारा चलाया जा रहा है।

गन्ने कि क्षेत्रीय एवं स्थानीय महत्वपूर्ण समस्याओं पर अनुसंधान को तीव्रगामी बनाने हेतु भारतीय कृषि अनुसंधान परिषद ने चौथी पंचवर्षीय योजना 1970-71 में अखिल भारतीय समन्वित गन्ना अनुसंधान परियोजना का मुख्यालय भारतीय गन्ना अनुसंधान संस्थान, लखनऊ में बनाने का अनुमोदन किया।

अधिदेश

  • बेहतर उपज और गुणवत्ता के साथ जैविक और अजैविक दवाबों के विरुद्ध प्रतिरोधी स्थानीय अनुकूलित गन्ना की किस्मों का मूल्यांकन
  • गन्ना के अधिक उत्पादन के लिए तकनीकी के पैकेज का विकास
  • गन्ने के उत्पादन के लिए कम लागत वाली प्रौद्योगिकियों का विकास
  • किसानों और चीनी उद्योगों के लिए सघन एवं विस्तृत नेटवर्क सुविधा व प्रौद्योगिकी हस्तांतरण के लिए सूचना सृजन करना

उद्देश्य

  • उपयुक्त क्षेत्र / स्थान विशेष हेतु उन्नत किस्मों के मूल्यांकन के लिए जर्मप्लाज्म और अग्रिम प्रजनन सामग्री के बहुस्थानीय परीक्षण का समन्वयन करना
  • फसल उत्पादन के लिए संगठित और उपयुक्त क्षेत्र / स्थान विशेष के लिए अभ्यास-समूह या रीति विकसित करने के लिए अंतर - विषयी प्रकृति के रणनीतिक और व्यावहारिक अनुसंधान का संचालन करना
  • क्षेत्र या स्थान विशेष के लिए एकीकृत रोग और कीट प्रबंधन रणनीति विकसित करना
  • सहयोगी संगठनों में वितरण के लिए रोग मुक्त नाभिक बीज सामग्री का रखरखाव एवं संवर्धन
  • विकसित प्रौद्योगिकी एवं सूचना का प्रसार करना

अखिल भारतीय समन्वित अनुसंधान परियोजना (गन्ना) के नियमित केन्द्र उत्तर पश्चिम क्षेत्र

  1. पंजाब कृषि विश्वविद्यालय, लुधियाना, पंजाब
  2. गोविंद बल्लभ पंत कृषि एवं प्रौद्योगिकी विश्वविद्यालय, पंतनगर, उत्तराखंड
  3. भारतीय गन्ना अनुसंधान संस्थान, लखनऊ, उत्तर प्रदेश
  4. चौधरी चरण सिंह हरियाणा कृषि विश्वविद्यालय(CCSHAU), क्षेत्रीय अनुसंधान स्टेशन, उचानी, जिला- करनाल (हरियाणा)
  5. उत्तर प्रदेश गन्ना अनुसंधान परिषद, शाहजहाँपुर (उत्तर प्रदेश)
  6. कृषि अनुसंधान स्टेशन (एम. पी. एयू. एंड. टी. ), कोटा (राजस्थान)
  7. क्षेत्रीय अनुसंधान स्टेशन (पी. ए. यू. ), फरीदकोट (पंजाब)
  8. कृषि अनुसंधान स्टेशन (आर. ए. यू., बीकानेर), श्रीगंगानगर (राजस्थान)

इसके अलावा, एसबीआई क्षेत्रीय केंद्र, करनाल (गन्ना प्रजनन संस्थान, कोयंबटूर के तहत) भी ए आई सी आर पी कार्यक्रम में सहयोग कर रहा है।

उत्तर मध्य क्षेत्र

  1. गन्ना अनुसंधान संस्थान (राव), पूसा (बिहार)
  2. गन्ना अनुसंधान (कृषि विभाग) स्टेशन, बेथुयादहरी (पश्चिम बंगाल)

इसके अलावा आईआईएसआर, क्षेत्रीय केंद्र, मोतीपुर, जिला मुजफ्फरपुर (भारतीय गन्ना अनुसंधान संस्थान लखनऊ के तहत) भी ए आई सी आर पी कार्यक्रम में सहयोग कर रहा है।

पूर्वोत्तर क्षेत्र

  1. गन्ना अनुसंधान स्टेशन (असम कृषि विश्वविद्यालय), बुरालिक्सन (असम)

पूर्वी समुद्र तटीय क्षेत्र

  1. क्षेत्रीय कृषि. रिसर्च (ए.एन.जी.आई.आर.एयू.) स्टेशन, अनाकापल्ली, (आंध्र प्रदेश)
  2. गन्ना अनुसंधान स्टेशन, (टी.एन.एयू.) कुड्डालोर, तमिलनाडु
  3. गन्ना अनुसंधान स्टेशन (ओ. यूए. एंड टी.), नयागढ़, उड़ीसा

प्रायद्वीपीय क्षेत्र

  1. केन्द्रीय गन्ना अनुसंधान स्टेशन (एम. पी. के. यू.), पडेगांव, महाराष्ट्र
  2. गन्ना प्रजनन संस्थान, कोयम्बटूर, तमिलनाडु
  3. आंचलिक कृषि अनुसंधान स्टेशन (जे. एन. के. वी. वी. ), पोवरखेरा, मध्य प्रदेश
  4. आंचलिक कृषि अनुसंधान स्टेशन, (यू. ए. एस., बंगलौर), मंड्या, कर्नाटक
  5. क्षेत्रीय गन्ना और गुड़ अनुसंधान स्टेशन (एम. पी. के. वी. ), कोल्हापुर, महाराष्ट्र
  6. क्षेत्रीय गन्ना अनुसंधान स्टेशन (एन. ए. यू.), नवसारी, गुजरात
  7. गन्ना अनुसंधान स्टेशन (के. ए. यू.), तिरूवल्ला, केरल
  8. कृषि अनुसंधान स्टेशन (यू. ए. एस., धारवाड), संकेश्वर, कर्नाटक

अखिल भारतीय समन्वित अनुसंधान परियोजना (एआईसीआरपीएस) के स्वैच्छिक केन्द्र उत्तर पश्चिम क्षेत्र

  1. गन्ना अनुसंधान स्टेशन, (यू. पी. सी. एस. आर.) मुजफ्फरनगर, उत्तर प्रदेश
  2. सरदार वल्लभ भाई पटेल युनिवर्सिटी ऑफ एग्री. और टेक., मोदीपुरम, जिला. मेरठ उत्तर प्रदेश
  3. नरेन्द्र देव कृषि और तकनीकी विश्वविद्यालय, फैजाबाद, उत्तर प्रदेश

उत्तर मध्य क्षेत्र

  1. जी एस गन्ना प्रजनन एवं अनुसंधान स्टेशन, (यू. पी. सी. एस. आर.) सेवरही, कुशीनगर, उत्तर प्रदेश
  2. गन्ना अनुसंधान केंद्र (यू पी सी एस आर), कुनराघाट, गोरखपुर, उत्तर प्रदेश

पूर्व समुद्र तटीय क्षेत्र

  1. गन्ना अनुसंधान स्टेशन, (ए. एन. जी. आर. ए. यू.) वुयुरु, आंध्र प्रदेश
  2. ए आर एस (ए. एन. जी. आर. यू.) पेरूमालपल्ली, चितूर, आंध्र प्रदेश

प्रायद्वीपीय क्षेत्र

  1. पंजाब राव देशमुख कृषि विद्यापीठ, अकोला (महाराष्ट्र)
  2. वसंतदादा चीनी संस्थान, मंजरी (बीके) पुणे (महाराष्ट्र)
  3. पद्मश्री डॉ. विठ्ठलराव विखे पाटिल सहकारी कारखाना प्रवरनगर, अहमदनगर, महाराष्ट्र
  4. क्षेत्रीय गन्ना और चावल अनुसंधान केंद्र रुद्र पुर (ए. एन. जी. आर. ए. यू.) निजामाबाद, मध्यप्रदेश
  5. ए. आर. एस. (ए. एन. जी. आर. यू.) पेरूमालपल्ली, चितूर, आंध्र प्रदेश
  6. कर्नाटक प्रयुक्त कृषि अनुसंधान संस्थान, समीरवारी, जिला. – बागलकोट, कर्नाटक
  7. क्षेत्रीय गन्ना अनुसंधान स्टेशन, (मराठवाड़ा कृषि विश्वविद्यालय) बासमथ नगर, जिला परभनी, महाराष्ट्र
  8. इंदिरा गांधी कृषि विश्वविद्यालय, रायपुर, छत्तीसगढ़